पत्रकार को आयएएस जितना ज्ञान व सिपाही जैसी ताकत होनी चाहिए- सुरेश वडवलकर

By: Surendra
Feb 12, 2024
355


नवी मुंबई : एक पत्रकार की पत्रकारिता सामाजिक सरोकारों तथा सार्वजनिक हित से जुड़कर ही सार्थक बनती है। सामाजिक सरोकारों को व्यवस्था के दहलीज तक पहुंचाने तथा शासन, प्रशासन की जनहितकारी नीतियों को सबसे निचले तबके तक ले जाने के दायित्व का निर्वाह ही सार्थक पत्रकारिता है। इसलिए इसे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है। ऐसा उदगार वरिष्ठ पत्रकार सुरेश वडवलकर ने व्यक्त किए। वे नवी मुंबई के सबसे पहले हिंदी साप्ताहिक “महानगरी एक्सप्रेस” के संपादक विनोद प्रधान के जन्मदिन पर आयोजित एक समारोह को संबोधित कर रहे थे। श्री वडवलकर ने आगे कहा कि आज के इस डिजिटल सुविधाओं के दौर में एक जागरुक पत्रकार के पास आयएएस जितना ज्ञान तथा सिपाही जितनी ताकत होनी चाहिए। पत्रकारिता के क्षेत्र में अगर केरियर बनाना है तो राजनीतिक, सांस्कृतिक, धर्म तथा सामाजिक व समसामयिक मुद्दों की गहन जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि किसी भी देश की मीडिया अगर सकारात्मक भूमिका अदा करें तो उस देश को हर क्षेत्र में विकसित, खुशहाल व समृद्ध बनाया जा सकता है। समारोह में अपना दल के महाराष्ट्र प्रदेश प्रभारी व सरदार वल्लभभाई पटेल संस्था के संस्थापक अध्यक्ष महेंद्र वर्मा ने कहा कि आज राजनीतिक व सामाजिक क्षेत्र में मैं जिस मुकाम पर  पहुंचा हूं वह पत्रकारों की ही देन है। पत्रकारों ने हर पल अपने अनुभवों को मेरे साथ सांझा किया है, जिससे मैं हर क्षेत्र में सफल रहा। उनकी सलाह व प्रेरणा की वजह से आज मैं राजनीति में रहकर जनकल्याण का भी काम कर रहा हूं। श्री वर्मा ने आगे कहा कि खासकर नवी मुंबई के वरिष्ठ पत्रकारों की वजह से मेरी यह समझ में आया कि राजनीति का मूल उद्देश्य ही जनता के अधिकतम सामाजिक व आर्थिक समस्याओं का निपटारा करना है। उन्होंने कहा कि यदि राजनीति का पूरी तरह से सही व सकारात्मक दिशा में प्रयोग किया जाए तो विकास के नए शिखर छुए जा सकते हैं और मानवता की सेवा के साथ देश को निरंतर आगे बढ़ाया जा सकता है। इस अवसर पर विनोद प्रधान ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मैंने राहुल देव, आलोक भट्टाचार्य, दीपक पाचपोर, धीरेंद्र अस्थाना तथा महानगरी एक्सप्रेस के संस्थापक संपादक अमल कुमार डे जैसे दिग्गज पत्रकारों व साहित्यकारों के सानिध्य में काम किया। ४० वर्षों  की  पत्रकारिता  के दौरान मैंने जो भी इन वरिष्ठों से हासिल किया आने वाली युवा पीढ़ी को समर्पित कर दिया। श्री प्रधान ने कहा कि मुझे बड़ा गर्व है कि इस अखबार में काम करने वाले पत्रकार आज बड़े-बड़े प्रतिष्ठित अखबारों, चैनलों तथा न्युज एजेंसी से जुड़े हैं और पत्रकारिता के माध्यम से समाज को एक सकारात्मक दिशा  की ओर ले जा रहे हैं। उक्त समारोह में वरिष्ठ पत्रकार राजीव यादव ने जहां उपस्थितों को महानगरी एक्सप्रेस से नवभारत तक के सफर की विस्तृत जानकारी दी। वहीं अपना दल नवी मुंबई के अध्यक्ष आशीष गोस्वामी, नवी मुंबई बंजारा समाज (शिंदे गुट) के अध्यक्ष गुलाब भिड़े, जनकल्याण सामाजिक संस्था के  संस्थापक अध्यक्ष राजेश शर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किए ।इस दौरान उपस्थित जनों ने विनोद प्रधान को उनके जन्मदिन पर केक खिलाकर उन्हें अपनी शुभकामनाएं दी। समारोह में पत्रकार परमानंद सिंह, जनकल्याण सामाजिक संस्था के राष्ट्रीय महासचिव सुरेंद्र सरोज, प्रभारी बलदेव सिंह, नवी मुंबई अध्यक्ष मफतलाल चव्हाण,उपाध्यक्ष संतोष बाबर, सचिव विनोद बाबर,  विश्वनाथ शिंदे, विजय नायर के अलावा कई गणमान्य उपस्थित थे।


Surendra

Reporter - Khabre Aaj Bhi

Who will win IPL 2023 ?