नौ मांगों को लेकर भूमाफिया व पुलिस के खिलाफ अनशन पर बैठे संपादक राजाराम जैसवाल

By: Surendra
Jun 23, 2024
140

दोषियों पर कार्रवाई करने का आश्वासन देकर अनशन को किया खत्म



मुंबई :  मुंबई मे बहुचर्चित खबरे आज भी समाचार पत्र जिसका उद्देश है की समाज मे भ्रष्टाचार उजागर करने करने का काम खबरों के मध्ययम किया जाता रहता है । जिसके कारण पुलिस प्रशासन की पोल खुलती है । जिसके कारण खबरे आज भी के पत्रकारो पर मानखुर्द पुलिस थाने के अधिकारियों की हमेशा टारगेट पर रहते हैकी कोई भी सिकायत आई और मामला दर्ज किया जाए । संपादक व जयराम सेवा फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजाराम जैसवाल ने 20 जून को मानखुर्द  पुलिस थाने के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ आमरण अनशन करने की तैयारी किया था।  पुलिस ने अनशन रुकने के लिए आस्थानिक लोगों का सहारा लेकर अनशन को खत्म करने की कोशिस किया । जिसमे पुलिस की दलाल भी सामील थे जो की हमेशा पुलिस थाने मे ही अपना धंधा बना लिया है।   

आप को बता दे कि भूमाफिया के साथ पुलिस अधिकारियों को मिली भगत से पूरे इलाके मे पुलिस की की छवि धोंमिल हो रही है ।   

जैसवाल ने मानखुर्द पुलिस स्टेशन अधिकारियों के खिलाफ आरोप लगाते हुए कहा है कि मानखुर्द पुलिस स्टेशन भूमि माफियाओं के साथ मिलकर अवैध कब्जा कर रही है आरोप यह भी है की जमीन कब्जा करने के लिए भूमाफिया जानबूझकर आग लगा रही है साथ ही मानखुर्द - गोवंडी में बड़े पैमाने पर नशे का कारोबार होता है जिसमें युवा पीढ़ी नशे का शिकार हो रही है ऐसे अनेक कारोबार है जो मानखुर्द पुलिस स्टेशन की हद में चल रहे हैं ज्ञात हो की 2 जून को मंडल जनता नगर एमएमआरडी के खुले कंपाउंड में 6 गाले बनाने का अवैध निर्माण किया जा रहा था इस बात की खबर संपादक राजाराम जैसवाल ने अपने खबरें आज भी में प्रकाशित के बाद  भूमाफियाओं ने काम बंद कर दिया और उनके जगह कब्जा करने का प्लान फेल हो गया संपादक राजाराम ने इस संदर्भ में संबंधित पुलिस अधिकारियों को लिखित शिकायत भी देने के बाद भूमाफियाओं के खिलाफ पुलिस ने कोई कारवाई नहीं किया खबर प्रकाशित होने का गुस्सा मन में रखकर पुलिस और भू माफिया ने मिलकर 6 जून शाम 6:20 को एक अनजान महिला को खबरें आज भी के मंडल ऑफिस में भेज कर झूठ छेड़छाड़ का आरोप लगाकर फर्जी केस बनाकर संपादक राजाराम को फसाया जा रहा है इस फर्जी आप को लेकर खबरें आज भी के संपादक ब जयराम सेवा फाउंडेशन की ओर से गोवंडी के संविधान चौक पर 20 जून को भारी बरसात में आमरण अनशन किया गया। अनशन से घबराई पुलिस ने संपादक राजाराम से मुलाकात की साथी संबंधित दोषियों पर जल्द कार्रवाई की जाएगी ऐसा आश्वासन देकर अनशन को राजाराम ने खत्म कर दिया गया। 


Surendra

Reporter - Khabre Aaj Bhi

Who will win IPL 2023 ?