चली थी अस्पताल के लिए लेकिन रास्ते में ही एंबुलेंस के अंदर कराना पड़ा प्रसव

By: Izhar
Aug 05, 2022
23

ग़ाज़ीपुर : उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा चलाई गई निशुल्क एंबुलेंस योजना आमजन के लिए और खासकर गर्भवती के लिए संजीवनी बनने का काम कर रही है। कारण की क्विक रिस्पांस पर एंबुलेंस बताए गए लोकेशन पर पहुंच रही है। वही बहुत सारे एंबुलेंस में अस्पताल पहुंचने से पहले ही गर्भवती का प्रसव हो रहा है। ऐसा ही एक प्रसव गुरुवार को सैदपुर ब्लॉक के बिहारीगंज रेलवे फाटक पर हुआ। जब गर्भवती ने एंबुलेंस के अंदर ही बच्चे को जन्म दिया।

108 एंबुलेंस के प्रभारी मोहम्मद फरीद ने बताया कि गुरुवार को आशा कार्यकर्ता सरिता के द्वारा 102 नंबर पर कॉल किया गया। जिसके बाद एंबुलेंस के चालक पिंटू यादव और इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन अमरेंद्र कुमार बताए गए लोकेशन भैरोपुर पहुंचे। जहां पर वह गर्भवती चांदनी पत्नी प्रदीप को तत्काल एंबुलेंस में बैठा कर स्वास्थ्य केंद्र के लिए चले। लेकिन जब उनका एंबुलेंस बिहारीगंज रेलवे फाटक के पास पहुंचा गर्भवती की दर्द बढ़ गई। जिसके कारण एंबुलेंस को किनारे लगाया गया और फिर आशा कार्यकर्ता सरिता, इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन अमरेंद्र कुमार और परिजनों की मदद से एंबुलेंस के अंदर ही प्रसव कराया गया। जिसके पश्चात जच्चा और बच्चा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खानपुर पहुंचाया गया जहां पर डॉक्टरों ने दोनों को स्वस्थ बताया।


Izhar

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?