निर्वाचन परिचय कार्ड धीमी गति से क्यों ?

By: Khabre Aaj Bhi
Dec 03, 2020
15

रिपोर्ट : जावेद बिन

अली गाजीपुर : पूरे उत्तर प्रदेश में विधानसभा से लेकर पंचायत चुनाव की तैयारी आरंभ हो गई है। वहीं दूसरी तरफ कोविड-१९  का खौफ से तमाम प्राइमरी पाठशाला बंद पड़े हुए हैं । लेकिन इसी कोविड-१९ में इलेक्शन क्यों हो रहे ? लोगों का यह भी है एक सवाल ? इलेक्शन कमिशन की नोटिफिकेशन के अनुसार जिसकी आयु १ जनवरी २०२१ को उम्र १८  साल हो जाएगी ,निर्वाचन परिचय कार्ड के लिए आवेदन दे सकता है। 

कीओया किसी के नाम में कोई टूटी होl उसे भी दुरुस्त करा सकता है । 

लेकिन लोगों की ध्यान इस तरफ नही है क्यों कि लोगों का विश्वास चुनाव आयोग पर अब नहीं रह गया हैl लोगों का कहना है कि वोट देकर क्या होगा? वोट किसी दूसरे को देते हैं और कहीं चला जाता है । इससे अच्छा है निर्वाचन कार्ड नहीं रहना। मोहम्मदाबाद तहसील अंतर्गत हायर सेकेंडरी स्कूल बालापुर पर मौजूद उषा देवी सलमा परवीन और संगीता वर्मा बीएलओ ने बताया कि हम सरकार की नौकरी करते हैं । पूरा दिन बैठते हैं । मुश्किल से दिन भर में एक दो लोग आ जाते हैं । वहीं दूसरी तरफ वोटर लिस्ट में डबल नाम होने की लिखित तौर पर देने के बावजूद भी कार्यालय द्वारा नाम छोड़ दिया जाता हैl और वोटर लिस्ट में एक ही व्यक्ति का कई जगह नाम दर्ज रहता है । हम लिखित शिकायत करके थक चुके हैं। 


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?