हैवान बने बहनोई कि शिकार हुए अलीशा इरफान

By: Izhar
Nov 06, 2019
228


गाजीपुर: रिश्तेदार की हैवानियत में जान गवाने वाली अलीशा इरफान के निर्मम हत्या के राज उठ गया है। की हत्या उसके ही बहनोई ने चापड़ से वार करके किया था। अलीशा रोजाना रूहीपुर गांव में स्थित एक डिग्री कालेज में बीटीसी की पढ़ाई करने जाती थी। परिजनों की माने तो हत्या वाली शाम चार बजे उसने परिजनों को फोन करके के बताया कि वह रौजा पर आ रही है। पूरी रात बीत गई, लेकिन वह घर नहीं पहुंची। दुसरे दिन सुबह उसकी लाश बिरनो थाना क्षेत्र से बरामद हुए। उसका क्षत-विक्षत शव मिला था। अलीशा का शव हत्या के बाद इस मामले में परिजनों ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।इस नृशंस हत्याकांड को लेकर पुलिस के सामने बडी चुनौती पैदा हो गई थी। शहर से लेकर देहात तक लगातार प्रदर्शन के बाद पुलिस पर दबाव भी बढ़ गया और टीमें जुटकर हत्यारोपियों तक पहुंच गई। ग्रामीण एसपी चंद्रप्रकाश शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने हत्यारोपी बहनोई को हिरासत मे लिया गया है और हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया गया है।

पुलिस कप्तान ने किया खुलासा


बुधवार को मीडिया के सामने खुलासा करते हुए  पुलिस कप्तान डा अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि मृतका के जीजा इमाम अहमद सिद्दिकी उर्फ रियाज अहमद निवासी पखनपुरा थाना भावरकोल को गिरफ्तार किया गया है पुछताछ मे आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार किया है। अभियुक्त कि गिरफ्तारी रौजा तिराहे से किया गया। पुलिस टीम ने प्रयुक्त हथियार चापड, मोटरसाइकिल आदि बरामद कर लिया गया है

आरोपी ने बताया हत्या की वजह 

आरोपी ने बताया कि मृतक अलिशा एक खुले विचार कि लडकी थी। वह कालेज में क्लर्क व लडको से बात करती थी। मना करने के बाद भी नही मानी मै मृतका से शादी करना चाहता था।लेकिन वह मना कर दी। इस बात से हमें गुस्सा आया और जान से मारने का मन बना लिया। घटना के दिन मैंने फोन करके अलीशा को बुलाया और दरगाह चलने को कहा। वापसी में सुनसान जगह पर बहाने से बाइक रोककर मृतका को उतारा और मृतका पर चापड से उसके उपर वार कर दिया। मृतका गिरकर तडपने लगी उसे झाडी मे ले जाकर उसका चेहरा बुरी तरह काट डाला।और अपने गांव पखनपुरा आ गया।


Izhar

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?