समाजवादी पार्टी टीम के द्वारा आजम खान के रिहाई पर खुशी मनाते हुए

By: Khabre Aaj Bhi
May 29, 2022
191


उसियां : उत्तर प्रदेश जनपद गाजीपुर के सेवराई तहसील क्षेत्र के उसिया गांव में समाजवादी पार्टी उसिया के कार्यकर्ताओं द्वारा  समाजवादी पार्टी नेता हेसामुद्दीन खान के अहाते में आजम खान की  रिहाई पर एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमें कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

उसिया समाजवादी पार्टी टीम के द्वारा आजम खान के रिहाई पर खुशी मनाते हुए एक दूसरे को मिठाई खिलाया गया‌‌। उसिया समाजवादी टीम के सरफुउद्दीन खान ने लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि सर सैयद के बाद अगर हिंदुस्तान में शिक्षा के क्षेत्र में किसी ने बेशुमार काम किया है तो वह है आजम खान ने किया है। मुस्लिमों के हित एवं गरीबों को शिक्षा को लेकर उन्होंने जौहर विश्वविद्यालय की स्थापना की लेकिन यह सरकार उस विद्यालय पर ही आपने तुगलकी फरमान जारी कर उसे नष्ट करने का पुरजोर कोशिश किया एक लंबे समय तक राजनीति में अहम मुकाम रखने वाले आजम खान को कुत्ते और बिल्ली जैसे चोरी के झूठे मुकदमों में फंसा कर उनका राजनीतिक जीवन खत्म करने का कोशिश किया गया। सरकार यह जानले कि आने वाले चुनाव में जनता उनका सफाया कर देगी। पूर्व प्रधान जमालुद्दीन का ने कहा कि सरकार रोजगार तो दे नहीं रही अतिक्रमण के नाम पर  युवाओ से रोजगार जरूर छीन रही है  एक लंबे समय तक राजनीतिक के विधानसभा और लोकसभा का प्रतिनिधित्व कर चुके आजम खान को झूठे मुकदमे में फंसाने उनकी नाकामी को साबित करता है।युवा नेता नौशाद खान ने कहा कि इस सरकार के ‌पास गरीबों के कल्याण के लिए कोई योजना नहीं है ‌।अपने कार्यकाल में इनका मुख्य कार्य इनके विपक्षियों को झूठे मुकदमों में फंसा कर परेशान करना लेकिन सरकार यह जानले "जोर जुल्म की टक्कर में संघर्ष हमारा नारा है हम लड़ेंगे और जीतेंगे"  गोडसरा गांव के ग्राम प्रधान अब्दुल कलाम खान ने कहां की यह सरकार द्वेष की भावना के साथ काम कर रही  हैं शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम करने वाले आजम खान को बेवजह झूठे मुकदमो  में फंसा कर एक लंबे समय तक उन्हें जेल में रखा गया जिसकी हम घोर निंदा करते हैं। उक्त अवसर पर फिरोज खान,असफाक खान,एकबाल खान,तुफैल खान, खान,एकराम, शाहजहाँ,शहरूम आलम,असद, अरशद खान, गयासुद्दी खान  कक्कू,सद्दाम खान , अदनान खान,कैफ,ऐनुल हक खान, औरंगजेब खान ,शाहनवाज, फखरेआलम खान, मुस्लिमरजा खान, आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे‌।


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?