नेपाली चौकीदारों और उनके परिवारों के लिए तत्काल कोविड टीकाकरण शिविर का आयोजन करें : सुजाता सूरज पाटिल

By: Khabre Aaj Bhi
Sep 03, 2021
368

By  : सुरेन्द्र सरोज  ८३५६९९४५५९

 नवी मुंबई : भाजपा की पूर्व पार्षद एवं महिला बाल कल्याण समिति की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती.सुजाता सूरज पाटिल ने मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर को दिए बयान में यह बात कही है।

 पिछले दो वर्षों में मनपा प्रशासन द्वारा किए जा रहे अथक प्रयासों के साथ-साथ नवी मुंबई के मूर्तिकारों, जन नेताओं, ठाणे के पूर्व संरक्षक मंत्री और हमारे सम्मानित विधायक के कारण।  इस दौरान गणेश नाईक के कार्यों से कोरोना महामारी की दर पर काबू पाया गया है। नागरिक स्वास्थ्य केंद्रों, वाशी के पहले संदर्भ अस्पतालों, नगरपालिका स्कूलों, पुस्तकालयों आदि के टीकाकरण अभियानों ने कई लोगों के लिए टीकाकरण करना आसान बना दिया है।  हम कोरोना टीकाकरण में आधार कार्ड को अनिवार्य बनाने की नव निर्मित समस्या को मनपा स्तर के साथ-साथ निजी स्तर पर भी इंगित कर रहे हैं।  नवी मुंबई में हाउसिंग सोसायटियों,कंपनियों,कारखानों आदि में नेपाली भाई चौकीदार के अल्प वेतन पर काम कर रहे हैं। उनके परिवार की मदद के लिए उनकी पत्नी, मां और बहन हाउसिंग सोसाइटियों में कपड़े धोने, बर्तन और कालीन साफ ​​करने का काम भी कर रही हैं। 

लेकिन चूंकि वे भारतीय नहीं हैं, इसलिए उनके पास आधार कार्ड नहीं है, जिसके परिणामस्वरूप वे प्रशासनिक और निजी स्तर पर चल रहे टीकाकरण का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं।  लेकिन नेपाली चौकीदार समाज में सबसे छोटे से लेकर बड़े तक सभी के साथ जुड़ा हुआ है।  साथ ही, चूंकि महिलाएं घर का काम कर रही हैं, इसलिए वे घर में महिलाओं और बच्चों के संपर्क में आती हैं। इसलिए भले ही हम टीकाकरण के माध्यम से कोरोना को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहे हैं, हम नेपाली लोगों को, जो घर और समाज परिसर से सीधे जुड़े हुए हैं।टीका न लगवाने पर कोरोना महामारी में शामिल होने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।  हमें तत्काल नेपाली चौकीदारों और उनके परिवारों के लिए दो दिवसीय अलग टीकाकरण शिविर आयोजित करने की आवश्यकता है। कई नेपाली भाई और उनके परिवार लगातार हमसे टीकाकरण के बारे में पूछ रहे हैं।  कोरोना को शत-प्रतिशत नियंत्रण में लाने के लिए जल्द से जल्द नेपाली चौकीदारों और उनके परिवारों के लिए दो दिवसीय पृथक टीकाकरण शिविर का आयोजन किया जाए।  सुजाता सूरज पाटिल ने मनपा प्रशासन से संपर्क किया है।


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?