आग से दो रिहायशी छप्पर जला, बाल-बाल बचे लोग, सारा घरेलू सामान जलकर राख, परिवार हुआ बेघर

By: Khabre Aaj Bhi
Aug 25, 2021
308

सिकरारा के ककोहिया गांव में आधी रात के बाद रिहायशी मड़हे में लगी आग देख परिजनों में मचा अफरा- तफरी



by : शिवप्रसाद अग्रहरि

जौनपुर:जौनपुर जिले के सिकरारा थाना क्षेत्र में मंगलवार की रात्रि में एक गरीब मजदूर का आशियाना जलकर राख हो गया, साथ ही उसमे रखा गृहस्थी का पूरा समान कपड़ा आदि भी जलकर नष्ट हो गए। इस घटना के बाद परिवार पूरी तरह बेघर हो खुले आसमान के नीचे आ गया है। मिली जानकारी के अनुसार सिकरारा थाना क्षेत्र के ककोहिया गांव में मंगलवार को आधी रात के बाद आग लगने से एक मजदूर का दो रिहायशी छप्पर जलकर राख हो गया। छप्पर में रखा सारा घरेलू सामान, खाद्यान्न, बिस्तर, कपड़ा आदि भी जल गया। इससे  परिवार खुले आसमान के नीचे आ गया है। क्षेत्रीय लेखपाल मौके पर पहुंचकर नुकसान की जांच में जुट गए है। वही अब इस घटना के बाद परिवार के सामने बारिश के मौसम में सिर छुपाने की समस्या भी सामने आ गई है।

घटना के विषय में बताते चलें कि उक्त गांव निवासी महेन्द्र प्रताप जो कि मजदूरी कर परिवार की आजीविका चलाता है। उसने बताया कि रात में सोते समय मच्छर भगाने के लिए उपली की कुंडी व कुछ खरपतवार जलाकर रखा गया था। अनुमान लगा रहे है कि रात में किसी समय हवा चलने से चिंगारी का तिनका छप्पर में चला गया। बताया जाता है कि आधी रात के बाद लगभग तीन बजें छप्पर गर्म होने लगा तो नींद टूट गई। देखा कि छप्पर धू- धूकर जल रहा है। आनन- फानन में परिवार के लोगो को बाहर निकाला। आग लगने की जानकारी होने के बाद आस पास के लोग भी पहुंचकर आग को बुझाने में जुट गए। जब तक लोग आग पर काबू पाते तब तक रिहायशी छप्पर में रखा अनाज, कपड़ा व अन्य घरेलू सामान जलकर राख हो गया। बातचीत में महेन्द्र ने बताया कि छप्पर जलने से परिवार पूरी तरह बेघर हो गया है। 


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?