पिता ने किया अपने परिवार की पर प्राण घातक हमला पत्नी की मौत पाँच बच्चा घायल खुद दी जान

By: Izhar
May 15, 2021
247


ग़ाज़ीपर: दिलदारनगर थाना क्षेत्र के उसियां ग्राम में पिता ने कि अपने परिवार के पत्नी सहित पांच लोगो पर जानलेवा हमला कर दिया जिसमें ,पत्नी की मौत हो गई और बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये
और खुद ट्रेन के सामने कुदकर आत्महत्या कर किया । यह घटना सुबह रीब से बजे हुई। 

आप को बाते दे कि मुंशी सिंह यादव पुत्र स्व० रामवृक्ष सिंह यादव निवासी उसिया उम्र-45 वर्ष जो उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पुलिस महमके तैनात था।
उसका स्थानांतरण बीते जनेवारी माह में पुलिस विभाग में जनपद फतेहपुर में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थें, चर्म रोग से पीड़ित होने के कारण अवसाद में थे
५ जनेवारी से ही मेडिकल लीव पर छुट्टी लेकर घर आ गया था।आज सुबह अपने परिवार के साथ रात में सोया था। लगभग करीब से 4 बजे अपनी पत्नी रीना देवी उम्र-४० वर्ष से कुछ कहासुनी हो गई।बात त इतनी बढ़ गयी कि गुस्से में आए सिपाही ने अपनी पत्नी के सिर और गले पर धारदार हथियार घातक हमला कर दिया। चीख पुकार कि आवाज सुनकर व पुत्रियां नेहा यादव उम्र१७ वर्ष, वर्षा यादव उम्र १० वर्ष व सुधा यादव उम्र वर्ष तथा पुत्र श्यामसुंदर उर्फ सागर उम्र वर्ष तथा कृष्णा यादव उम्र ढाई वर्ष को धारदार हथियार द्वारा घायल कर दिया गया और स्वयं मुंशी सिंह यादव द्वारा उसियां गांव के पास ट्रेन के सामने कूदकर अपनी जान दे दी गई।।


दौरान इलाज पत्नी रीना देवी की जिला अस्पताल गाजीपुर में मृत्यु हो गई। घटना की सूचना पाकर पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला अस्पताल जाकर पीड़ितों से उनका हालचाल जाना गया तथा घटना के संबंध में जानकारी ली गई।चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर आरोपी के बडे भाई की पत्नी घटनास्थल पर पहुंची कर चिखने चिल्लाने लगी। सभी लोगों को लहूलुहान देखर बेहोश होकर गिर पडी़।उनकी आवाज सुनकर पास पडोस के लोग घटनास्थल पर पहुंच गए और घटना की जानकारी पुलिस को दी सूचना मिलते ही दिलदारनगर थाना प्रभारी निरीक्षक कमलेश पाल ,सीओ जमानीया, व एडीसन एसपी और पुलिस टिम के साथ मौके पर पहुंच गयें।घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।इलाज के दौरान पत्नी रीना देवी की मौत हो गई।वहीं गंभीर रूप से घायल श्याम यादव,सुधा यादव,और कृष्ण यादव को ट्रामा सेंटर वाराणसी भेज दिया गया।


नेहा यादव, वर्षा यादव को भदौरा CHC भेज कर उनका ईलाज कराया गया। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी सिपाही मुशी यादव ने गांव के करिब ककरही डेरा के पास ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया हैं। इस घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है साथ साथ पूरे गांव में मातम सा माहौल फैला हुआ हैं। थाना प्रभारी निरीक्षक कमलेश पाल ने बताया कि घटना का कारण परिवारिक कलह सामने आ रहा हैं ।मामले की छानबीन में पुलिस जुट गई हैं।


Izhar

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?