जमानिया बिजली विभाग की लापरवाही हुई उजागर,जल्द होगा कई ऐसे बड़े पर्दाफाश,अधिकारियों की खुलेगी पोल

By: Khabre Aaj Bhi
Oct 11, 2020
135

 रिपोर्ट : बजरंग बलि तिवारी 

गाजीपुर : बिजली विभाग में संलिप्त ऐसे लापरवाह अधिकारियों पर हो जल्द उचित कार्यवाही

दो वर्षों से भी ज्यादा समय से सो रहे बिजली विभाग की खुली नींद व खुल गई बिजली विभाग के लापरवाही की पोल

बिन्दु प्रकाश के पत्रकार बजरंग बलि तिवारी के ट्वीट करते ही बिजली विभाग चैन कि नींद से जागा

दो वर्ष पूर्व तार व जर्जर खम्भा को बदलने के लिए पत्रकार बजरंग बलि तिवारी ने ग़ाज़ीपुर जमानिया अंतर्गत अधिशासी अभियंता महेंद्र मिश्रा को लिखित किया था अवगत

जमानिया अधिशासी अभियंता ने एस.डी.ओ. को दिया था आदेश लेकिन आदेश देने के पश्चात भी लगा दो वर्ष से भी ज्यादा समय आखिर क्यों ? 

अब देखना होगा कि जर्जर तार व खम्भा को मुख्य मार्ग पर बदलने में कितना समय लगेगा या होती रहेगी लापरवाही और होगी बड़ी घटना 

ट्विटर पर जानकारी देते ही बिजली विभाग जागा,जिसको दिया गया था आदेश उस एस. डी. ओ. ने की वार्ता कहा जल्द ही तार व जर्जर खम्भा को बदलने का कार्य होगा पूर्ण ?

आपको बताते चले कि ग़ाज़ीपुर अंतर्गत जमानिया के बिजली विभाग की लापरवाही उजागर हुई है।जमानिया अंतर्गत गोहदा पावर हाउस अंतर्गत ग्राम दस्वन्तपुर में मुख्य मार्ग पर जर्जर तार व खम्भा को बदलने की लिखित सूचना पत्रकार बजरंग बलि तिवारी के माध्यम से बिजली विभाग जमानिया अधिशासी अभियन्ता को दिनांक 02/04/2018 को अवगत किया था।अधिशासी अभियंता ने एस. डी. ओ. को आदेश दिया लेकिन इनकी इतनी बड़ी लापरवाही की लिखित शिकायत पर अधिशासी अभियंता के आदेश को भी दरकिनार करते हुए ध्यान नही दिया और चैन कि नींद सोते रहे।

दो वर्षों से भी ज्यादा समय बीत जाने के पश्चात गांव के मुख्य मार्ग पर जर्जर तार व खम्भा इतना जर्जर है इससे कोई बड़ी घटना न हो व लिखित शिकायत पर भी निवारण न होने के पश्चात पत्रकार बजरंग बलि तिवारी ने ट्वीट के माध्य्म से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित बिजली विभाग के आला अधिकारियों को इसकी सूचना अवगत की तब जाकर बिजली विभाग की नींद खुली और जिसको आदेश दिया गया था उस एस. डी. ओ. के द्वारा अवगत किया गया कि इसकी हमे जानकारी नही थी ट्वीटर के माध्यम से हमे जानकारी मिली है जल्द ही जर्जर तार व खम्भे को बदलने का कार्य पूर्ण किया जाएगा जिससे कि कोई बड़ी घटना न होने पाए।अब देखना है कि जर्जर तार व खम्भे को बदलने में अभी कितना समय लगेगा या ट्विटर पर सूचना देने के बाद भी चैन से सोएगा बिजली विभाग।


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?