अजान पर प्रतिबंध लगा कर गाजीपुर प्रशासन अपनी आत्मा को गुलाम बनाकर मूर्खता का परिचय दिया है

By: Muzammil Khan
Apr 26, 2020
1037

मोहम्मद वजीर अंसारी पूर्व डीजेपी छत्तीसगढ़ गाजीपुर में अजान की अनुमति तत्काल दी जाए विधायक मोहम्मद असलम रायनी उत्तर प्रदेश लखनऊ


ग़ाज़ीपुर : (जावेद बिन अली द्वारा) पूर्व डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस छत्तीसगढ़ मोहम्मद वजीर अंसारी ने अपने एक टेलिफोनिक विशेष भेंट वार्ता में कहा कि भारत का गरीब और मजलूम लॉकडाउन का 101% पालन कर रहा है। गाजीपुर जनपद में अजान पर प्रतिबंध लगाकर प्रशासन ने अपनी आत्मा को गुलाम बनाकर ,अपनी मूर्खता का परिचय दिया है।

प्रशासन द्वारा बड़ी साजिश नजर आ रहा है। क्योंकि भारत के किसी शहर ,किसी जिला में लाउडस्पीकर से अजान पर प्रतिबंध नहीं लगा है। भारतीय मुसलमान इस अवसर पर बेसहारा और गरीब मजलूमो को दान देकर ,उनकी जिंदगी में खुशी लाता है।उन्होंने यह भी कहा गाजीपुर के प्रशासनिक अधिकारी से में कई बार मोबाइल से वार्ता करना चाहा और यह जानने का प्रयास किया कि भारत के किसी क्षेत्र में माइक से अजान पर प्रतिबंध नहीं है तो फिर क्यों गाजीपुर में किसके आदेश पर अमल किया जा रहा है।मैं अपनी बात उनके सामने रखना चाहता था। और उनकी बात सुनना चाहता था। लेकिन जिला प्रशासन हमारा नाम सुनते ही मोबाइल कट कर देता है। यह घोर आपत्तिजनक कार्य हैl मैं जिला प्रशासन से केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा आदेश की कॉपी गाजीपुर के तमाम जिम्मेदारों को उपलब्ध कराने की मांग करता हूं।गाजीपुर की शहीदी धरती, आजादी से लेकर भारत पाकिस्तान के तमाम युद्ध में ,अपनी जान निछावर करने में कभी पीछे नहीं रहा है। 


गाजीपुर के विभिन्न क्षेत्रों में मुसलमान और हिंदू एक पूर्वज से फैले हुए हैं। प्रशासन इनके प्रेम को बांटने का काम नहीं करें। प्रशासन में इस्लामिक फोबिया जो फैला हुआ है उसे अपने अंदर से निकालने का प्रयास करें। पूरे भारत में विशेष एक समुदाय की दुकान खोलने के लिए सरकार द्वारा इजाजत दी जा रही है। ताकि मुसलमानों द्वारा जो उनका कारोबार ईद के अवसर पर चलता था वह बंद नहीं होने पाए। गाजीपुर में माइक के जरिए अजान पर पाबंदी घोर आपत्तिजनक है lजिलाधिकारी से मैंने भी कई बार इस संबंध में वार्ता करने के लिए मैसेज किया और मोबाइल की घंटी बजाई तो यह कहा गया साहब अभी बिजी हैं। जिलाधिकारी को अस्पष्ट रूप से विज्ञानिक तथ्य को रखते हुए बताना चाहिए की माइक द्वारा अजान देने से कोरोना वायरस में वृद्धि हो गी। केंद्र सरकार या राज्य सरकार का आदेश दिखानी चाहिए। 

इस संबंध में मुस्लिम वक्फ बोर्ड और हज के चेयरमैन मोहसिन रजा से संबंध स्थापित किया तो उन्होंने कहा की जिलाधिकारी ने ऐसे कोई आदेश से अनभिज्ञता जाहिर किया वहीं दूसरी तरफ मोहम्मद असलम रायनी ने अपने पत्र संख्या 193/20दिनांक 25 अप्रैल 2020को अपर मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन और मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश को माध्यम से तत्काल अजान का प्रतिबंध हटाने को कहा है। 

जिला अधिकारी की मनमानी से पूरा जिला परेशान है जनपद गाजीपुर के आसपास के तमाम जनपदों एवं शहरों मैं छात्रों को ध्यान में रखते हुए कुछ घंटे के लिए किताबों की दुकान खोलने की अनुमति उत्तर प्रदेश के अन्य सभी जिलों में दी जा चुकी है लोगों द्वारा दूसरे जिलों की आदेश की कॉपी देकर यहां आदेश देने को कहा भी गया है। लेकिन मात्र गाजीपुर जनपद ऐसा है जहां इसकी भी अनुमति नहीं दी गई है जिससे छात्रों में रोष है।


Muzammil Khan

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?