भावना ट्रस्ट ज्युनियर आँड डिग्री कॉलेज में फ्रिक 2020 का महोत्सव आज से शुरू

By: Izhar
Feb 11, 2020
288


मुबई : देवनार स्थित भावना ट्रस्ट ज्युनियर आँड  डिग्री कॉलेज ऑफ कॉमर्स आँड  सायन्स , कॉलेज में तीन दिवसीय फ्रिक महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है यह महोत्सव ११,१२,१३, फेब्रुअरी तक चलेगा ।  इस महोत्सव की शुरुवात भावना ट्रस्ट जूनियर आँड  डिग्री कॉलेज  के अध्यक्ष श्री जयंत भावसार व डायरेक्टर मीना भावसार के हाथो दिप प्रज्वलित कर फ्रिक २०२० महोत्स की सुरुवात कि गई श्री जयंत भावसार जी ने टॉस उड़ाकर क्रिकेट की गेंद पर बल्लेबाजी करके   शुरुवात की ।   



इस महोत्सव में अनेक प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन किया गया इस कार्यक्रम में ५० से ६० कॉलेज के बच्चों ने हिस्सा लिया इस महोत्सव में संगीत मेहंदी,रंगोली ,टेबल टेनिस ,गेस द टँगलाइन (ब्राण्ड्स आँड लोगो ),चेस, कैरम, वर्ड मास्टर,६० सेकंड एड सेल्फी, टिक टॉक ,कँरवाके सिंगिंग,  बॉक्स क्रिकेट ,ब्लाइंड टाइपिंग ,वेब डिजाइनिंग ,आदि आयोजन किया गया। 



जूनियर एंड डिग्री कॉलेज की अध्यापिका रूपा कुलकर्णी ने बताया कि यह कार्यक्रम १० सालों से मनाया जा रहा है। इस महोत्सव में अनेक प्रकार कार्यक्रम हर साल किया जाता है।



भावना ट्रस्ट जूनियर एंड डिग्री कॉलेज के प्रोफेसर शैलेश आरोंदेकर ने बताया कि हमारे यहां खेलों का कंपटीशन के अलावा भी हमारे यहाँ कालेज एनएसएस , बच्चों द्वारा ब्लड डोनेशन रोड सुरक्षा मिशन,पल्स पोलियो अभियान, स्वच्छ भारत अभियान ,बेटी पढाओ,बेटी बचाओ, नारी शक्ति, महिलाओ पर तेजाब हमला ,पर्यावरण प्लास्टिक बंदी, पथ नाट्य द्वारा भी हमारे यहां जगह-जगह जाकर लोगों को जागरूक करने का , हमारा कॉलेज के बच्चों द्वारा कार्य किया जाता है।
  



उन्होंने बताया कि त्योहारों के दौरान भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जैसे की गणेश उत्सव व नवरात्रि के दौरान  ट्राफिक संभालने का काम करते है । भावना ट्रस्ट की तरह से कई प्रकार के काम किया जाता है कुछ दिन पहले ही सात दिवस ग्रमीण बस्ती कैम्प का आयोजन किया गया। 
महाराष्ट्र के पनवेल जिला के दुंदरे गाँव को भावना ट्रस्ट ने दत्तक ले कर इस गाँव की सारी समस्याओ के बारे में जागृति की गयी । 



 इस संस्था की आस्थापना १९७२ मे की गई।  श्री जयंतीभाई केशवजी छाडवा ने इस संस्था की प्रगति मे बहुत बड़ा योगदान दिया । इसके मुख्य संस्थापक श्री केशवजी उमरशि छाडवा (चेयरमैन) ,श्री प्रवीणचन्द्र द्वारकादास दलाल (ट्रस्टी), श्री कांतिलाल कल्याणजी गोगरी (मैनेजिंग ट्रस्टी) ,श्री निर्मल कुमार गगुभाई  छाडवा (ट्रस्टी), श्री दामजीभाई लालजी एंकरवाला (ट्रस्टी) ,श्री प्रेमजीभाई टोकरशि निसार (ट्रस्टी) , श्री वाडीलाला गांगजी शाह (ट्रस्टी ) है.       


Izhar

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?