बीके महिला महाविद्यालय में समाजिक संस्था सोशल वेलफेयर ट्रस्ट के तत्वावधान में ,,सडक सुरक्षा और हम,, विषय पर गोष्ठी का आयोजन

By: Khabre Aaj Bhi
Nov 28, 2019
30


By: मोज्मील खान/संदीप शर्मा

गाजीपुर: दिलदारनगर क्षेत्र के  उसिया स्थित बीके महिला महाविद्यालय मे सामाजिक संस्था सोशल वेलफेयर ट्रस्ट के तत्वावधान में आज ,,सड़क सुरक्षा और हम ,,गोष्ठी आयोजित की गई। गोष्ठी में समाजी सरोकार स्मारिका के सड़क सुरक्षा एवं स्वच्छता विशेषांक का लोकार्पण किया गया। 


इस दौरान मुख्य अतिथि ने पूर्व डीजी छत्तीसगढ़ एम.डब्लू. अंसारी कहा कि सड़क सुरक्षा इंसान की जिंदगी से जुड़ा हुआ महवपूर्ण विषय है। इसकी गम्भीर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हर साल भारत में सड़क दुर्घटनाओं में डेढ़ लाख लोग असमय मौत के मुंह में समा जा रहे हैं। हमारा दायित्व बनता है कि सड़क पर चलते हुए यातायात नियमों का पूरी तरह पालन करें और दूसरों को भी इसके लिए जागरूक करते रहें। 


विशिष्ट अतिथि विजय कुमार मिश्र ने कहा कि जीवन बहुमूल्य है, इसकी सुरक्षा, संरक्षा की जिम्मेदारी केवल आपकी है। यातयात नियमों के पालन और अनुशासन से सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है। युवाओं को वाहन चलाते हुए बेवजह करतब्बाजी और फर्राटा भरने से बचने की जरूरत है। 

अंजनी सिंह ने कहा कि सड़कों पर हर रोज बढ़ते हुए नए वाहन सड़क सुरक्षा के नजरिये से चुनौतीपूर्ण तो हैं ही पर्यावरण के लिए नुकसानदायक हैं। हमें जरूरत है कि हम छोटी दूरी के लिए वाहन के प्रयोग से बचें। चालान से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन न करें बल्कि खुद की जिंगदी को बचाने के लिए करें।

समाजी सरोकार स्मारिका के सम्पादक एम. अफसर खान सागर ने कहा कि वाहन चालक सड़क पर चलने से पहले ये सोचें कि उन्हें अपनों के लिए सुरक्षित घर लौटना भी है। जन जागरण के जरिये लोगों को सड़क सुरक्षा के बाबत जागरूक किया जा सकता है। 

ट्रस्ट के संस्थापक/प्रबन्ध निदेशक डॉ0 वसीम रज़ा ने सबका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज में व्याप्त कुरीतियों के खात्मे के लिए संस्था अनवरत कार्य कर रही है। सड़क सुरक्षा के दिशा में यूपी और बिहार में हेलमेट जागरूकता एवं बाइकर बचाओ मुहिम के तहत लोगों को जागरुक किया जा रहा है। हमारा प्रयास निरन्तर जारी रहेगा। 

गोष्ठी में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान के लिए लोगों को ट्रस्ट द्वारा सम्मानित किया गया, जिसमें लेखक व पत्रकार एम. अफसर खान 'सागर' को अक्षर रत्न सम्मान तथा एहसान अहमद, उप-निरीक्षक रणजीत यादव,  को सहकार सम्मान से सम्मानित किया गया। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता गुलाम मजहर खान ने तथा संचालन खान जियाउद्दीन कासिम ने किया। इस दौरान मुख्य रूप से मास्टर सुहेल खान, रणजीत यादव, मुज्मिल खान, इजहार खान ,शौकत खान, इम्तियाज गाज़ी, एहसान अहमद, मुश्ताक, तौसीफ गोया,आदि लोग मैजुद रहे।


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?