आक्रोशित ग्रामीणों ने विद्युत विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के चलते S.D.O. मछली शहर को कई घंटे बनाए रखा बंधक

By: Khabre Aaj Bhi
Oct 14, 2019
1722

    

उत्तर प्रदेश:  जौनपुर के मछली शहर तहसील के पवारा पावर हाउस का है यह मामला पवारा फीडर से चल रहे लगभग 35 गांव का विद्युत पिछले छह माह से विद्युत बाधित होने आक्रोशित गांव वालों ने एसडीओ मछली शहर का किया घेराव सैकड़ों की तादाद में ग्रामीणों ने शासन और प्रशासन के खिलाफ अपनी नाराजगी व्यक्ति की और अपनी उचित मांगों को लेकर अड़े रहे।  पिछले 36 घंटे से नहीं आई बिजली ग्रामीणों का है आरोप कई बार आला अधिकारियों से गुहार लगाने के बाद भी नहीं हो पा रहा समस्या का निदान जिसके कारण ग्रामीण नाराज थे । 


अजय कुमार दुबे मीडिया से बातचीत में बताया पवारा पावर हाउस का पैनल क्षतिग्रस्त होने से विगत 6 महीने से 35 गांव की बिजली अधिकांश गुल रहने से गांव वालों में बिजली विभाग के खिलाफ काफी आक्रोश पाया जाता है 48+48 घंटे बिजली गुल रहने से गांव वालों का काफी समस्या का सामना करना पड़ा रहा है 10 मिनट बिजली आती है तो 1 घंटे के लिए गायब हो जाती है आधे घंटे के लिए आती है तो 2 घंटे के लिए बिजली चली जाती है यह सिलसिला पिछले 6 महीने से चल रहा है


खबरें आज भी मीडिया टीम ने जब S.D.O. मछली शहर अमर सिंह पटेल से बातचीत की उन्होंने बताया पिछले 6 महीने से हम ने फाइल तैयार कर आला अधिकारियों के पास भेजा लेकिन फाइल अभी तक एक्सेप्ट नहीं हुई ना उस पर कोई कार्यवाही हुई । विगत 6 महीने से हम लोग पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ थूक लगाकर जोड़ तोड़कर वेल्डिंग करा कर किसी तरह से उस फीडर से कमोबेश बिजली का संचालन करते रहे आज नौबत यह आ गया कि वह  पूरी तरह से ध्वस्त हो गया उसका परिणाम यह निकला आज हम बंधक बने हुए बैठे हैं । जब हम ने  S.C.N से मोबाइल पर बात जीत की उन्होंने 3 दिन का टाइम दिया है छोटे अधिकारी बड़े अधिकारियों के सामने पूरी तरह से हैं बेबस। बड़े आंदोलन की दी चेतावनी ग्रामीणों ने अपनी मांगों को लेकर एसडीओ मछली शहर अमर सिंह पटेल को सौंपा प्रार्थना पत्र काफी समझाने बुझाने के बाद किसी तरह माने लेकिन 3 दिन बाद अगर विद्युत आपूर्ति पूरी तरह से संचालित नहीं हुई तो दोबारा बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी है ।


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?