मानखुर्द पुलिस थाने की हद में बड़े पैमाम पर बिक रहा नई पीढ़ी को बर्बाद करने धंधा महिला व पति फिरफ्तार

By: Khabre Aaj Bhi
Oct 07, 2019
210

वाइटनर की 400 सौ बोतल को खबरे आज भी टीम ने कराया पुलिस में जप्त

मुंबई: मानखुर्द पुलिस थाने ही हद में बड़े पैमाने पर नई पीढ़ी को बर्बाद करने का बड़े पैमाने नशे का सामान बेच जाता है इन नशे का कारोबार करने वाले को क्या आस्थानिक पुलिस को पता नही है क्या हमारे इलाके में क्या हो रहा है  किस कदर नई पीढ़ी को नशे में मुह में जा रहे है । साठेनगर के कई सालों से नशे का कारोबार करने वाले नशरीन नामक महिला व बशीर.डी है।  इन लोग नई युवा  पीढ़ी को मौत का सामना बेचने का कई सालों से  कारोबार करते है । इन लोगो को किसी का खौफ नही है क्यो की इन लोगो को एक 100 एम. एल की वाइनर की कीमत 16 रुपया में खरीदी आती है और बेचा जाता है 50 रुपया में एक पर बोटल के ऊपर 34 रुपये फायद होता है। तो सोचिये हर मिहिने में कितने रुपये का मौत का समान बेच कर कमाते है। नशा बेचने वाले इन लोग का कारोबार फल फूल रहा है।

जिसकी जानकरी खबरे आज भी के समाचार पत्र संपादक राजाराम जैसवाल को खबर मिली कमुंबई मस्जिद बंदर से टैक्सी क्र. एम एच 03 वी टी  0142 में साठेनगर में 400 सौ बोतल वाइटनर लेकर आने वाले है खबरे आज भी टीम व विश्व हिन्दू परिषद के सेवा प्रमुख राजेश गुप्ता के साथ मौके पर पहुँच कर इस सभी मामले की  खबर मानखुर्द पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक नितिन बोबडे को दी । खबर  जाने के बाद तत्यपर्त दिखाते हुए पुलिस की टीम भेज कर नशे के डीलर व माल पकड़ कर पुलिस थाने में मामला क्र.316/19 भा. द.वी 285.34 के तहत मामला दर्ज करके मदर कासिम सेख,चांदबि मदर शेख को गिरफ्तार किया है

पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी पति पत्नी है। इस सभी मामले का  खबरे आज भी की खुफिया जानकारी के अनुसार   गौरी अक्का नामक महिला है जो पूरे मुंबई में वाइटनर सफ्लाई करती है इसी महिला से मदर शेख ने माल खरीद कर मानखुर्द पुलिस थाने की हद में साठे नगर डिलवरी देने के आई थी। जिसके खबरे आज भी बी.एच.बी.पी  के कार्यकर्ताओं के साथ काम को अंजाम ।

ब देखना है मानखुर्द पुलिस थाने के जाँच अधिकारी जांच कर गौरी अक्का नामक महिला व साठे नगर में धंधे करने वाले के गिरफ्तार कर पाती है कि नही ?


Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?