बहराइच कोऑर्डिनेटर अनुसुइया प्रशासन को कर रहीं खुलेआम चैलेंज

By: Khabre Aaj Bhi
Sep 06, 2019
91

बहराइच पट्टी कमालपुर में 3 दिन के सोशल ऑडिट प्रोग्राम में सिर्फ तीसरे दिन ही पहुंची सोशल अहडिटर,,

सोशल एडिटर अनुसुइया ने जनता से की खुलेआम दबंगई,, 

उत्तर प्रदेश: जिला बहराईच सोशल ऑडिट निदेशालय उत्तर प्रदेश द्वारा हर ग्राम पंचायत में 3 दिवसीय कार्य सुनिश्चित किया गया है जिसमें सोशल ऑडिट में 4 सदस्य टीम होती हैं इस टीम में उनके साथ BSAC ऑब्लिक BRP रहती है सोशल ऑडिट की जांच मनरेगा, आवास, के सत्यापन का कार्य किया जाता है जिसमे उक्त वित्तीय वर्ष में जितने काम कराए गए हैं उन कार्यों को जनता के सामने एकत्र होकर खुली बैठक में जनता को बताया जाता है जिसमें इस खुली बैठक कि कार्यस्थल एक सार्वजनिक स्थान पर होता है जैसे कि ग्राम पंचायत के अंदर बने कोई विद्यालय, ऐनम सेंटर, आंगनबाड़ी केंद्र, इस पर यह बैठक की जाती है लेकिन इन सब कार्यों के खुलेआम आदेश की धज्जियां उड़ाई हैं कोऑर्डिनेटर अनुसुइया ने प्रधान के निजी घर पर बैठकर की है बैठक प्रधान ने जनता को बैठक में आने से किया मना।

 बहराइच विकासखंड फखरपुर क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत पट्टी कमालपुर में 3 दिन से चल रहे सोशल ऑडिट प्रोग्राम में 2 दिन अनुपस्थित रही अनुसुइया,

 तीसरे दिन पहुंची अपनी ड्यूटी पर तो ग्राम प्रधान के घर तक रह गयी सीमित,,

बहराइच के पयागपुर तहसील विशेश्वरगंज निवासी अनसुईया ने ग्राम पंचायत के अंदर 3 दिन ना आने के बजाए सिर्फ आखरी दिन ही पहुंची पट्टी कमालपुर गांव के अंदर जिस पर जनता में आक्रोश व्यक्त सोशल आडिटर के सामने जनता ने खोली प्रधान की दबंगई व घूसखोरी का पोल जिससे अनसुईया ने प्रधान से कंप्रोमाइज कर प्रोग्राम को किसी सार्वजनिक स्थान पर लगाने के बजाय पट्टी कमालपुर प्रधान के घर पर की बैठकर की मीटिंग,,

सोशल ऑडिटर अनुसुइया ने शासन विरुद्ध किया कार्य पट्टी कमालपुर में 9 मजरा स्थित है जिसमें इनकी ड्यूटी यह थी कि हर मजरे को चेक कर की जाए जांच कर व मजरे के हर व्यक्तियों से मिलकर उनकी समस्याओं को सुनकर उनकी मदद का प्रयास करें लेकिन यहां तो कार्य ही तो कुछ उल्टा दिखाई पड़ रहा प्रधान व अनुसुइया की कार्यप्रणाली पर ग्रामीणों ने लगाया भ्रष्टाचार काआरोप।

जनता ने कोऑर्डिनेटर अनुसुइया से किया प्रश्न की ग्राम पंचायत पट्टी कमालपुर के अंदर की क्या है वित्तीय अनमिता।

 कोऑर्डिनेटर अनुसुइया ने बताया कि जाइए चाहे जिस से करिए शिकायत किसी अधिकारी को नहीं डरती हूं जो दिल में आएगा वह करूंगी कार्य,, मीडिया को भी बाइट देने से अनसूइया ने किया मना गाड़ी में बैठ कर वापस हुई अपने घर,, सोशल ऑडिटर के साथी ने बताया कि 500 में नहीं करेंगे 3 दिन कार्य,,पट्टी कमालपुर की जनता सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक विद्यालय में बैठकर कोऑर्डिनेटर का करती रही इंतजार कि अब होगी मीटिंग लेकिन कोऑर्डिनेटर प्रधान के ही घर तक ही रही सीमित।पट्टी कमालपुर की जनता मीटिंग ना होने से प्रधान व कोऑर्डिनेटर अनुसुइया के खिलाफ जमकर की नारेबाजी।

पट्टी कमालपुर की जनता जिले के उच्च अधिकारियों से अपने गांव की जांच करने की कर रही मांग,, ग्रामीण :- प्रेम कुमार, रामजस, रामचंद्र, नारायण, कुन्नू, ननकाऊ, अमृतलाल, गुड्डू, राजकुमारी, चंपावती, सुमन, आरती, रिंकू, ननकाऊ, शांति, लज्जावती, आदि सैकड़ों ग्रामीण पुरुष व महिलाएं मौजूद रहे। 



Khabre Aaj Bhi

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?