सर्पदंश से महिला की मौत झाड़-फूक के चक्कर में रात भर दौड़ते रहे परिजन..

By: indresh
Aug 09, 2019
107

By: इन्द्रेश तिवारी

जौनपुर: मछलीशहर स्थानीय थाना क्षेत्र के गोहका गाव में सर्प काटने से महिला की मौत हो गयी।जहा महिला के जाने से उसके चार बच्चे अनाथ हो गए वही अचानक इस ह्रदय विदारक घटना से परिजनों में कोहराम मच गया है।उक्त गाव निवासी रीना(36)पत्नी मनीष तिवारी रात के अँधेरे में किसी काम से घर के आगन में आई।जहा पर विषैला सर्प पहले से ही बैठा था।जानकारी के अनुसार अँधेरे की वजह से महिला का पैर उस सर्प पर पड़ गया,और सर्प तुरंत महिला के पैर में दो बार डंक मार दिया।महिला जब तक कुछ समझ पाती तब तक साँप कही छिप गया।महिला ने तुरंत इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी।जिसे लेकर तुरंत परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मछलीशहर लेकर गए।जहा हालत गंभीर होने पर डॉक्टरो ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।रास्ते में ही महिला ने दम तोड़ दिया।महिला की मौत की खबर सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया।उसके चार छोटे-छोटे बच्चे अनाथ हो गए।सबसे बड़ी लड़की अभी 11 साल की है जिसका रो-रोकर बुरा हाल है।पति रोजी-रोटी के सिलसिले में मुम्बई रहता है।पति के आने के बाद परिजनों ने वाराणसी के मनकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार किया।

झाड़-फूक के चक्कर में रात भर दौड़ते रहे परिजन...

महिला को डाक्टरों द्वारा मृत घोषित किये जाने के बाद परिजन किसी के द्वारा बताये जाने पर झाड़-फूक कराने के चक्कर में रात भर दौड़ते रहे।महिला का शव घर आने पर किसी ने बताया कि मडियाहू क्षेत्र के नगवा और बरसठी के राजापुर परियत में साँप काटने वालो को झाड़-फूक से जीवित किया जाता है।परिजन तुरंत बारी-बारी से क्रमश:दोनों जगह महिला के शव को लेकर गए।परंतु वहा दिनों जगह से ही परिजनों को निरासा हाथ लगी।इस घटना के बाद लोग बरबस ही कह रहे थे कि जिसका कुछ खोता है,वह हाड़ी में भी हाथ डालकर उसे पास लाने की कोशिश करता है।


indresh

Reporter - Khabre Aaj Bhi

आगे से कैश संकट उत्पन्न न हो इसके लिए क्या आरबीआई को ठोस नीति बनानी चाहिए?